Bewafa Shayari : Aag Dil Me Lagi Jab Wo Khafa Huye

Bewafa Shayari : Aag Dil Me Lagi Jab Wo Khafa Huye

Bewafa Shayari
Bewafa Shayari
Hasino Ne Hasin Bankar Gunah Kiya,
Auro Ko To Kya Humko Bhi Tabah Kiya,
Pesh Kiya Jab Gajlo Me Humne Unaki Bewafai Ko,
Auro Ne To Kya Unhone Bhi Wah-Wah Kiya.
Aag Dil Me Lagi Jab Wo Khafa Huye,
Mahsus Hua Tab Jab Wo Juda Huye,
Karke Wafa Kuchh De Na Sake Wo,
Par Bahut Kuchh De Gaye Jab Wo Bewafa Huye.
Usake Chale Jane Ke Bad,
Hum Mohabbat Nahi Karte Kisi Se,
Chhoti Si Jindagi Hain,
Kis Kis Ko Aajmate Rahenge.
हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,
औरों को तो क्या हमको भी तबाह किया,
पेश किया जब ग़ज़लों में हमने उनकी बेवफ़ाई को,
औरों ने तो क्या उन्होने भी वाह-वाह किया।
आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो,
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए।
उसके चले जाने के बाद,
हम महोबत नहीं करते किसी से,
छोटी सी जिन्दगी है,
किस किस को अजमाते रहेंगे।

No comments

Theme images by merrymoonmary. Powered by Blogger.